इंसान को इसी जीवन में उसके कर्मो का फल भोगना पड़ता हैं

Image result for karmo ka phal story



इंसान कितना भी चालाक क्यों न हो उसे अपने कर्मो का फल अवश्य भोगना पड़ता हो और इसी जीवन में भोगना पड़ता है ,यही समझने के लिए आइए एक कहानी की सहायता लेते हैं जो कर्मो का फल किसे कहते हैं इसका उपयुक्त उदहारण हैं |
एक बार दो व्यक्ति शहर से धन कमाकर अपने गाँव लौट रहे थे। रास्ते में ही सूर्यास्त हो गया। उन्होंने सोचा आज रात पास के ही गाँव में विश्राम कर लेते है। गाँव में जाकर उन्होंने एक घर का दरवाजा खटखटाया।
उसी घर में उनके लिए खाने और रात को आराम करने का इंतजाम हो गया। उस घर के मालिक ने उनके पास धन को देख लिया था। जिसके कारण उसके मन में उस धन के प्रति लालच आ गया। मकान मालिक में उन यात्रियों को खाना खिलाकर एक कमरे में सुला दिया और अपने आप भी सोने चला गया। उसके मन में एक ख्याल ने जन्म लिया।
वह था – अगर इन यात्रियों को मार दिया जाये तो यह सारा धन उसका हो सकता है। 
उसने कुछ आदमियों को बुलवाया और कहा – मेरे बेटों के कमरे में दो यात्री सो रहे है। उन्हें मारकर ठिकाने लगा दो। इसके बदले मैं तुम्हें बहुत सारा धन दूँगा। धन के लालच के लोग भी तैयार गये।
इसी बीच उस मकान मालिक के दोनों लड़के घर आ गये और अपने कमरे में उन यात्रियों को देखकर चौक गए।
उन यात्रियों से सब कुछ जानने के बाद उन्होंने उन यात्रियों को गेस्ट रूम में सुला दिया और अपने आप उसी कमरे में उन यात्रियों के स्थान पर सो गए।
आधी रात को कुछ आदमी उस कमरे में घूसे। उन्होंने पलंग पर दो व्यक्तियों को सोते हुए देखा और उन्हें मारकर उनकी लाश को ठिकाने लगा दिया।
जब सुबह हो गयी तो वे दोनों यात्री मकान मालिक के पास पहुँचे और वहाँ से चलने के लिए विदा ली। वह मकान मालिक सोचने लगा। अगर वे लोग ज़िंदा है तो रात में उन लोगों ने किन्हें मारा।
बाद में पता चला की जिनकी मृत्यु हुई वे मकान मालिक के ही बेटे थे।

इस कहानी से हमे ये प्रेणा मिलती हैं की कोई कितना भी चतुर क्यों न हो उसे उसके कर्मो का फल ज़रूर मिलता हैं |

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s