उत्तराखंड की ये ऑफबीट जगहें हैं बहुत ही खूबसूरत और शांत, यहां करें वेकेशन प्लान

उत्तराखंड की ये ऑफबीट जगहें हैं बहुत ही खूबसूरत और शांत, यहां करें वेकेशन प्लान

बिनसर
हिमालय की गोद में बसा उत्तराखंड का बिनसर बहुत ही खूबसूरत जगह है जहां लोग शांति और सुकून की तलाश में जाते हैं। आसपास के हरे-भरे घने जंगलों में आप ट्रैकिंग कर सकते हैं। अल्मोडा से 30 मिनट की दूरी तय करके आप यहां पहुंच सकते हैं। यहां की हरीभरी वादियों पक्षियों के रहने के भी काफी अनुकूल है जिसका अनोखा नजारा आप बिनसर वाइल्डलाइफ सेंक्चुअरी आकर देख सकते हैं। होटल की अपेक्षा यहां होमस्टे के ऑप्शन्स बहुत ज्यादा हैं जो ज्यादातर सैलानियों से भरे होते हैं तो अगर आप यहां आने की प्लानिंग कर रहे हैं तो होमस्टे का एक्सपीरियंस लेना चाह रहे हैं तो बेहतर होगा इसकी बुकिंग पहले से ही करा लें।

चकराता
उत्तराखंड का चकराता भी ऐसी ही जगहों में शामिल है जहां की खूबसूरती को अभी यहां की दूसरी मशहूर जगहों जितना एक्सप्लोर नहीं किया गया है। चकराता की वादियां तो आपको मंत्रमुग्ध कर ही देगी साथ ही अगर आप एडवेंचर के शौकीन हैं तो ये जगह आपको बिल्कुल भी निराश नहीं करेगी। वॉटर रेपलिंग से लेकर ट्रैकिंग जैसे एडवेंचर के मजे आप यहां आकर ले सकते हैं। चीड़ और देवदार के पड़े, ऊंचे-ऊंचे पहाड़ उनसे गिरते झरने चकराता की खूबसूरती में लगाते हैं चार चांद। चकराता आकर मुंडली और देवबन घूमना मिस न करें जहां से हिमालय का अद्भुत नजारा देख सकते हैं। यहां की खारंभा चोटी, जिसकी ऊंचाई 10,000 फीट है काफी एडवेंचरस है। तो देर किस बात की, जुलाई में चकराता घूमने का बनाएं प्लान।

चौपटा
इसे मिनी स्विटजरलैंड भी कहा जाता है कुछ ऐसी है यहां की नैसर्गिक खूबसूरती। ऊंचाई पर बसे होने की वजह से यहां सैलानियों की उतनी भीड़ नजर नहीं आती। यहां तक पहुंचने का रास्ता बहुत ही खूबसूरत है। चौपटा से हिमालय की खूबसूरती को निहारने का अलग ही मजा होता है। तुंगनाथ और चंद्रशीला ट्रैक का बेस कैंप भी चौपटा ही है। समुद्र तल से 2680 मीटर की ऊंचाई पर बसे होने की वजह से ये जगह ज्यादातर बर्फ से ढकी होती है। दिसंबर से फरवरी के बीच यहां आने का प्लान बनाएं जब स्नोफॉल के साथ ही कई तरह के जानवरों को भी देखने का मौका मिलता है।

चौकोरी
उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में भी प्रकृति ने अपनी बेशुमार नेमत बरसाई है। यहां एक या दो नहीं बल्कि कई सारी जगहें हैं खूबसूरती को एक्सप्लोर करने के लिए और उनमें से ही एक है चौकोरी गांव। यहां चाय के बागान भी देखने को मिलते हैं। केदार मंदिर, घुनसेरा मंदिर, कपिलेश्वर महादेव गुफा मंदिर भी यहां देखने वाली खूबसूरत जगहों में से एक है। काठगोदाम रेलवे स्टेशन से 270 किमी का सफर तय करके आप इस गांव पहुंच सकते हैं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s