बहुत ही खूबसूरत भारत के इन 5 आश्रम आकर कर सकते हैं एन्जॉयमेंट के साथ रिलैक्स भी

बहुत ही खूबसूरत भारत के इन 5 आश्रम आकर कर सकते हैं एन्जॉयमेंट के साथ रिलैक्स भी

Art of living ashram
1982 में बने श्री श्री रविशंकर के ‘आर्ट ऑफ लिविंग’ आश्रम में मेडिटेशन और योग द्वारा स्ट्रेस मैनेजमेंट से लेकर सेल्फ डेवलपमेंट तक के प्रोग्राम कराए जाते हैं। इसके अलावा अपनी लाइफ को कैसे अच्छा और बेहतर बना सकते हैं इस तरह के भी प्रोग्राम्स भी आयोजित होते रहते हैं जिनमें आप भाग लेने के साथ ही वॉलेंटियर भी बन सकते हैं। इन कार्यक्रमों में ब्रीदिंग टेक्निक पर फोकस किया जाता है जो आपकी बॉडी से लेकर माइंड दोनों को रिलैक्स और कंट्रोल करते हैं। ये प्रोग्राम इतने रिलैक्सिंग होते हैं कि इसका हिस्सा बनने दूर देशों से भी लोग आते हैं।

Osho international resort
हालांकि ओशो की जीवन काफी विवादास्पद रहा लेकिन देश हो या विदेश उनके चाहने वालों की कोई कमी नहीं। हालांकि आश्रम से ज्यादा इसे रिसोर्ट कहना सही रहेगा, जहां आकर आप सारी मॉडर्न सुख-सुविधाओं का मजा ले सकते हैं। इंडियन से लेकर मॉडर्न, हर एक कल्चर की झलक यहां देखने को मिलती है। यहां लोग मैरून कपड़े पहने नजर आते हैं।

Isha foundation
सद्गुरु जग्गी वासुदेव द्वारा 1992 में स्थापित ईशा फाउंडेशन ऐसी जगह है जहां योग, मे़डिटेशन से जुड़े प्रोग्राम्स में शामिल होकर आपको अलग ही एक्सपीरिएंस मिलेगा। सद्गुरु द्वार तैयार किया गया भाव स्पंदन कार्यक्रम लोगों को ऐसा मौका देता है जहां वे शरीर और मन की सीमाओं से परे, चेतना के उच्च आयामों अनुभव करते हैं। 3 से 7 दिनों तक होने वाला ईशा योग में आंतरिक खुशी और कल्याण की टेक्निक सिखाई जाती है। जिसका फर्क आप खुद महसूस करेंगे।

Parmarth Niketan
परमार्थ निकेतन, ऋषिकेश में बिल्कुल गंगा नदी के किनारे बना हुआ है। ये यहां का सबसे बड़ा आश्रम और योग सेंटर है। 8 एकड़ में फैले इस आश्रम में कुल 1000 कमरे हैं। जहां रूकने से लेकर योग और ध्यान की सारी सुख-सुविधाएं मौजूद हैं। यहां होने वाले इन कार्यक्रमों में देश-विदेश से आए लोगों की भारी भीड़ देखने को मिलती है। शाम को होने वाली गंगा आरती को देखने का अलग ही नजारा होता है।

श्री अरविंदो आश्रम
सन् 1926 में श्री अरविंदो और फ्रेंच महिला जिन्हें मदर के नाम से भी जाना जाता है उन्होंने इस आश्रम की नींव रखी। यहां आकर आपको अलग ही शांति और सुकून का एहसास होगा। हजारों की तादाद में यहां लोग मौजूद होते हैं लेकिन शांति ऐसी होती है जैसे आश्रम में कोई मौजूद ही नहीं। यहां कुल 80 डिपार्टमेंट्स हैं जहां आप क्वालिटी टाइम बिता सकते हैं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s